Saturday, September 29, 2018

8 best Home Remedies For acidity in hindi healthtipsinhindi.xyz


यह एसिडिटी की रामबाण औषधि है कि दुनिया में इससे जल्दी किसी भी दवाई से प्रभाव नहीं होता है । हमने कई लोगों को इस नुस्खे के बारे मे बताया और उन्होंने पूरा लाभ उठाया ।


Acidity Home Remedies In Hindi  

Acifity ke gharelu nuskhe

एसिडिटी के घरेलू नुस्खे 


एसिडिटी का राम बाण इलाज
एसिडिटी का राम बाण इलाज

8 best Home Remedies For acidity in hindi


धनिया पाउडर
आपको 2 भाग मिश्री लेनी है ओर एक भाग धनिया का पाऊडर ओर दोनो को पीस कर मिला ले । और एक चम्मच सुबह शाम पानी से खा लीजिये कितनी भी भयंकर एसिडिटी हो या फिर पेट में जलन हो, या गले में जलन हो जिनको भयानक खट्टी डकार आती हो । उस स्थिति में यह एक बहुत ही कारगर औषधी है । धनिया और मिश्री के अलावा इसमे कुछ और मिलाने की आवश्यकता नहीं है । और आपके घर में तैयार हैं एसिडिटी की रामबाण दवाई । आमतौर पर एसिडिटी पेट खराब होने पर होती है जैसे कि कब्ज । यदि आपको कब्ज है तो जरूरी है कि सबसे पहले आप कब्ज के चिकित्सा करें, जो कारण हैं उसका चिकित्सा करें तो कब्ज के लिए कोई औषधि ले सकते है

सेब
जिनको एसिडिटी की प्रॉब्लम है लोकी और सेब को मिलाकर के जूस निकालकर के पी ले यह बहुत ही लाभकारी है । आप इसको एसिडिटी के लिए प्रयोग कर सकते हैं इससे अवश्य लाभ होगा ।

मुलेठी
जिनको भयानक एसिडिटी है, अल्सर है, आंतो मे घाव है, व कब्ज है उसके लिये मैं आपको बोहत अच्छा प्रयोग बताता हूं । 100 ग्राम मुलेठी में आप 50 ग्राम गुलाब के सूखे फूल मिला लें और 50 ग्राम सोंप मिला लें । इन तीनों द्रव्यों को लेकर के आप इस को मोटा-मोटा कूटकर के रख ले, दो चम्मच लगभग 5 ग्राम से 10 ग्राम तक इसको आप 200 ग्राम पानी में उबालें और लगभग बचे 50 ग्राम आप छान करके पिए तो आप देखेंगे आप की एसिडिटी आपका कब्ज जो और अल्सर की शिकायत है वह ठीक हो जाएगी आप यह दवाई छोटे बच्चों को भी दे सकते हैं ।

दालचीनी
यह नम्र मसाला पेट अम्लता के लिए एक प्राकृतिक एंटासिड के रूप में काम करता है और पाचन और अवशोषण में सुधार करके आपके पेट को व्यवस्थित कर सकता है। राहत के लिए, गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ट्रैक्ट में संक्रमण को ठीक करने के लिए दालचीनी चाय पीएं। दालचीनी पोषक तत्वों का एक पावरहाउस है और स्वास्थ्य लाभकारी गुणों से भरा हुआ है।


8 best Home Remedies For acidity in hindi


छाछ
क्या आप जानते थे कि मक्खन को आयुर्वेद में एक सत्त्विक भोजन के रूप में वर्गीकृत किया गया है? तो, अगली बार जब आप भारी या मसालेदार भोजन खाने के बाद अम्लता प्राप्त करते हैं, तो एंटासिड छोड़ दें और इसके बजाए चास का एक गिलास पीएं। मक्खन में लैक्टिक एसिड होता है जो पेट में अम्लता को सामान्य करता है। सर्वोत्तम परिणामों के लिए काली मिर्च या 1 चम्मच जमीन धनिया पत्तियों के एक डैश छिड़के।

गुड़
कभी सोचा क्यों हमारे बुजुर्गों ने गुरु के साथ भोजन खत्म किया? नई दिल्ली के फोर्टिस अस्पताल डॉ मनोज के अहुजा कहते हैं, "इसकी उच्च मैग्नीशियम सामग्री के कारण, गुड आंतों की शक्ति को बढ़ावा देने में मदद करता है।" यह पाचन में सहायता करता है और आपके पाचन तंत्र को प्रकृति में अधिक क्षारीय बनाता है, इस प्रकार पेट की अम्लता को कम करता है। भोजन के बाद गुरु के एक छोटे टुकड़े पर चूसना, और लाभ काटना। चूंकि गुड़ सामान्य शरीर के तापमान को बनाए रखने में मदद करता है, पेट को ठंडा कर देता है -

जीरा
जीरा बीज एक महान एसिड तटस्थ के रूप में काम करते हैं, सहायता पाचन और पेट दर्द से छुटकारा पाता है। कुछ भुना हुआ जीरा के बीज थोड़ा सा क्रश करें, इसे एक गिलास पानी में उबालें ओर पी लें । और हर भोजन के बाद इसे पीएं।

अदरक
अपने घुटने के बाहरी हिस्से के नीचे, अदरक कई स्वास्थ्य लाभ छुपाता है। फोर्टिस अस्पताल डॉ अहुजा कहते हैं, "अदरक में उत्कृष्ट पाचन और विरोधी भड़काऊ गुण होते हैं।" पेट एसिड को बेअसर करने में मदद के लिए, आप ताजा अदरक का एक टुकड़ा चबा सकते हैं, या दिन में दो बार तीन बार अदरक का रस चम्मच, या उबलते पानी के एक कप में ताजा अदरक मिला कर पी सकते हैं ।


8 best Home Remedies For acidity in hindi

Tags: acidity in hindi, acidity in hindi meaning, acidity in hindi upchar, acidity in hindi treatment, acidity causes in hindi, acidity in hindi language, acidity in chest hindi, acidity symptoms in chest hindi, acidity causes hindi, reason for acidity in hindi, remedies for acidity in hindi, gharelu nuskhe for acidity in hindi, acidity ke upay in hindi, acidity ke lakshan in hindi, acidity ke karan in hindi, acidity ke nuksan in hindi

1 comments: